जैसे जैसे चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं, देश के कुछ 'बाबाओं' की बांछें खिल चुकी हैं और मन हिलोरें मार रहा है उन की अतिमहत्त्वाकांक्षा कि जब चाय बेचने वाला पीएम बन सकता है, भगवा वस्त्रधारी सीएम बन सकता है तो वे क्यों नहीं?

दरअसल, मध्य प्रदेश में जब से विधानसभा चुनाव की घोषणा हुई है, कई राजनीतिक दल पैदा हो गए हैं. दिलचस्प तो यह है कि इन दलों के नेता खादीधारी के अलावा भगवाधारी बाबा भी हैं, जो कल तक गलीमोहल्लों में घूमघूम कर भक्तों को उपदेश देते रहे थे कि देखो सारा जीवन लोभमोह से मुक्त हो कर ही इंसान मोक्ष प्राप्त कर सकता है.

Digital Plans
Print + Digital Plans
COMMENT