किसी भी चुनावी सर्वे और राजनैतिक विश्लेषण तो दूर आम आदमी पार्टी की चर्चा राजनीति के बड़े अड्डों चौराहों और गुंठियों तक पर नहीं है, मध्यप्रदेश, राजस्थान और छतीसगढ़ तीनों राज्यों में आप किसी गिनती में नहीं है बावजूद इस हकीकत के कि दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के मुखिया अरविंद केजरीवाल की लोकप्रियता इन तीनों राज्यों में किसी सबूत की मोहताज नहीं. हर कोई कहता और मानता है कि सीएम हो तो केजरीवाल जैसा जिसने दिल्ली की काया पलट कर रख दी और अकेले अपने दम पर नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी जैसे दिग्गज राष्ट्रीय नेताओं की नाक में दम कर रखा है.

COMMENT