प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक दूसरे को देख कर क्या मुस्कुराए कि बिहार के राजनीतिक गलियारों में हलचल और कानाफूसी का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. मोदी और नीतीश का एक दूसरे को देख कर मुस्कुराना, हंस-हंस कर बातें करना और गर्मजोशी से हाथ मिलाने से कुछ लोगों के कलेजे पर सांप लोटने लगा है. इतना ही नहीं एक अप्रैल को जब नीतीश ने नरेंद्र मोदी के जुमले की तर्ज पर कहा- ‘न पीएंगे, न पीने देंगे’ तो कई लोगों के माथे पर बल पड़ गए हैं. मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद भ्रष्टाचार को खत्म करने का ऐलान करते हुए ‘न खाएंगे, न खाने देंगे’ का नारा दिया था. उन्हीं के सुर में सुर मिलाते हुए नीतीश ने बिहार में शराबबंदी का ऐलान करते हुए कहा कि न पीएंगे, न पीने देंगे.

COMMENT