समाजवादी पार्टी के विवाद पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा ‘यह मामला परिवार का नहीं सरकार का है. सरकार के कामकाज मे बाहरी लोगों का दखल होगा तो काम कैसे चलेगा’.

मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद इस बात का कयास लगना तेज हो गया है कि सरकार के कामों में दखल देने वाला बाहरी कौन है ? कुछ लोगों का अंदाजा है कि मुख्यमंत्री ने जिस बाहरी आदमी का जिक्र किया वह नाम अमर सिंह का है.

इसके पक्ष में तर्क दिया जा रहा है कि मुख्य सचिव पद से हटाये गये दीपक सिंघल अमर सिंह के करीबी थे. अमर सिंह बाहरी आदमी है. इस बात को मानने से सपा नेता शिवपाल सिंह ने मना कर दिया. उनका कहना है कि सपा में कोई बाहरी आदमी नहीं है. सपा पार्टी पूरे परिवार की तरह  है.

‘सपा में बाहरी कौन’ इस कयास की तरफ दूसरा निशाना मुलायम सिंह यादव परिवार के करीबी सदस्य की ओर है. कयास यह है कि मंत्री पद से हटाये गये गायत्री प्रसाद प्रजापति और इस करीबी सदस्य के बीच करीबी रिश्ता था. जब गायत्री प्रसाद प्रजापति को मंत्री पद से हटाया गया तो परिवार का दबाव मुलायम सिंह यादव पर पड़ने लगा.

मुलायम ने मामले को लेकर अखिलेश से बात करने की कोशिश भी की पर बात हो नहीं पाई. अखिलेश हटाये गये लोगो को मंत्रिमंडल में दोबारा शामिल करने को तैयार नहीं थे.

जब यह बात पक्की हो गई कि मुलायम इस बात की जिद नहीं करेगे तब ही अखिलेश उनकी की बात संभव हो पाई. अखिलेश को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने शिवपाल को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाने के घटनाक्रम में भी पूरी तरह से परिवार का विवाद दिखा.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT