कुत्ता पालना स्टेटस सिम्बल ही नहीं है, बल्कि यह आपके जवां, हंसमुख और ऊर्जावान व्यक्तित्व एवं सकारात्मक सोच का जिम्मेदार भी है. कुत्ता पालने वाले 65 वर्ष की उम्र वाले लोग अपनी वास्तविक उम्र से दस साल कम ही नजर आते हैं. वे हर वक्त ऊर्जा और एक्टिविटी से भरपूर दिखते हैं. कुत्ता पालने वाले लोग आपको हमेशा तनावमुक्त और हंसमुख स्वभाव के मिलेंगे, जबकि उसी उम्र के अन्य लोगों के स्वाभाव में नीरसता, तनाव, झुंझलाहट, रोष और गुस्सा दिखेगा. हाल ही में हुए एक शोध से यह बात सामने आयी है कि घर में कुत्ता रखना एक बुजुर्ग के मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ शारीरिक स्वास्थ्य पर भी बेहद सकारात्मक प्रभाव डालता है.

Tags:
COMMENT