महिलाओं के पहनावे को ले कर भारत में ही नहीं, अमेरिका जैसे आधुनिक देश में भी दकियानूसी सोच हावी है. अरब देशों की तो बात ही क्या. दिल्ली में जिस वक्त अभिजात्य कहे जाने वाले गोल्फ क्लब में असम की तैलिन लिंगदोह नामक महिला को अपनी पारंपरिक वेशभूषा में होने के कारण बाहर निकाला जा रहा था, लगभग उसी समय अमेरिकी सीनेट हाउस चैंबर से एक रिपोर्टर को सिर्फ इसलिए हटा दिया गया क्योंकि उस ने स्लीवलेस कपड़े पहन रखे थे. इस से बाद वहां ड्रेस कोड पर विवाद छिड़ गया.

COMMENT