नींद का क्या है, नींद कभी भी आ सकती है. अलसाई दोपहरी हो या काम के बोझ से थकी आंखें तब न चाहते हुए भी दफ्तर में नींद आ ही जाती है. ऐसे में न चाह कर भी आंखें खोलकर रखनी पड़ती है, कई दफा यह नींद आपकी इमेज खराब भी कर देती है कई बार आप उपहास के पात्र भी बन जाते हैं. जब औफिस में आए नींद तो क्या करें आइये जानते हैं.

Tags:
COMMENT