वर्तमान समय में महिलाओं ने भले ही बड़ी उपलब्धियां हासिल कर ली हों, मगर कामयाबी की रेस में अपने स्वास्थ्य को उन्होंने काफी पीछे छोड़ दिया है. इसीलिए आज महिलाएं कई तरह की मानसिक सहित और कई शारीरिक बीमारियों की शिकार हैं. इस बाबत फिटनैस ट्रेनर सोनिया बजाज कहती हैं कि अधिकतर बीमारियों की उपज थकावट और तनाव है. कामकाजी महिलाओं को इन दोनों ही स्थितियों से गुजरना पड़ता है, क्योंकि उन पर दफ्तर और घर दोनों की जिम्मेदारियों का बोझ होता है. इस चक्कर में उन के लिए अपने लिए समय निकाल पाना बेहद मुश्किल होता है. फिर भी पूरे दिन में 30 मिनट खुद के लिए निकाल कर व्यायाम करना या हलकीफुलकी सैर करना मानसिक तनाव को कम करती है और शारीरिक ऊर्जा बढ़ाती है.

Tags:
COMMENT