अगर आप किसी ऐसी जगह पर जा रहे हैं जहां पर इस बीमारी से लोग पीडि़त हैं तो वहां पर सावधानियां बरतें. जो लोग इस बीमारी से पीडि़त हैं उन्हें 3 लेयर वाला सर्जिकल मास्क पहनना चाहिए. ऐसे डाक्टर जो इन मरीजों का इलाज कर रहे हैं उन्हें एन95 मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए. अगर किसी आदमी को यह बीमारी हो जाती है तो वह 2 से 3 लोगों को यह बीमारी फैला सकता है. यह बीमारी तभी फैलती है जब आप का कम से कम 10 मिनट तक उस से संपर्क रहे. लेकिन, इस बीमारी से पीडि़त कुछ ऐसे लोग होते हैं जिन्हें हम सुपर स्प्रेडर कहते हैं. ऐसा एक आदमी हजारों में यह बीमारी फैला सकता है. ऐसा लगता है कि चीन में यह बीमारी एक ही आदमी से फैली है. साउथ कोरिया में भी एक महिला ने यह बीमारी फैलाई. इसी तरह ईरान में भी एक सुपर स्प्रेडर रहा होगा जिस ने यह बीमारी फैलाई होगी.

Tags:
COMMENT