यह इन्फेक्शन बेहद आम है. यह पुरुषों और महिलाओं दोनों को हो सकता है लेकिन महिलाओं को इस समस्या से ज्यादा परेशान होना पड़ता है .गंदे शौचालयों या शौचालयों की कमी जैसे कारणों के साथ भारत में लगभग 50 फीसदी महिलाएं यूटीआई से पीड़ित हैं. नौकरी पेशे वाली महिलाओं में हर दूसरी महिला इस रोग की गिरफ्त में  है. यह रोग हालांकि बहुत खतरनाक नहीं है लेकिन अगर समय रहते ध्यान न  दिया जाए तो यह किडनी तक को प्रभावित कर सकता है. कुछ सावधानियां बरतकर यूटीआई से बचा जा सकता है.

Tags:
COMMENT