जिंदगी की भागदौड़ में हम लोग इतना बिजी हो गए हैं कि चलना तक भूल गए हैं जबकि यही चलना हमारी सेहतमंद जिंदगी की कुंजी है. पर हो उल्टा रहा है. बाजार जाना है तो गाड़ी चाहिए. डौक्टर से मिलना है तो भी बिना गाड़ी के नहीं हिलेंगे चाहें 2-3 किलोमीटर ही क्यों न जाना हो.

Tags:
COMMENT