जिंदगी की भागदौड़ में हम लोग इतना बिजी हो गए हैं कि चलना तक भूल गए हैं जबकि यही चलना हमारी सेहतमंद जिंदगी की कुंजी है. पर हो उल्टा रहा है. बाजार जाना है तो गाड़ी चाहिए. डौक्टर से मिलना है तो भी बिना गाड़ी के नहीं हिलेंगे चाहें 2-3 किलोमीटर ही क्यों न जाना हो.

हमारे इस आलस और रोजाना न चलने की गलत आदत की वजह से हम अनजाने में बड़ी बीमारियों को न्योता दे देते हैं. सांस फूलना, स्ट्रोक, डाइबिटीज और यहां तक कि कैंसर जैसी गंभीर बीमारी भी केवल न चलने के चलते हमें अपनी चपेट में ले सकती है.

ये भी पढ़ें- सावधान! दवाओं से अबौर्शन कराना हो सकता है खतरनाक

रोजाना पैदल चलने की वजह से न सिर्फ आप अपना वजन घटा सकते हैं, बल्कि मसल्स को भी मजबूत बना सकते हैं. हड्डियों और जौइंट्स को मजबूत कर सकते हैं. साथ ही, यह कसरत करने से न सिर्फ बेचैनी और तनाव कम होता है बल्कि डिप्रेशन से बाहर निकलने में भी मदद मिलती है.

क्या आप को पता है कि केवल 20 से 30 मिनट की वौक से मौत का खतरा 20 प्रतिशत तक कम हो सकता है? इस के लिए आप को दिनभर जिम में पसीना बहाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि एक नई स्टडी में खुलासा हुआ है कि हर दिन सिर्फ औसतन 22 मिनट पैदल चल कर आप अपनी सेहत में काफी सुधार कर सकते हैं.

अमेरिकन जर्नल औफ प्रिवेंटिन मेडिसिन में छपी इस स्टडी के नतीजे बताते हैं कि जो लोग हर दिन कम से कम 20 से 30 मिनट की वौकिंग करते हैं उन की मौत का खतरा उन लोगों से 20 प्रतिशत कम हो जाता है जो इस मामले में आलस कर जाते हैं.

ये भी पढ़ें- पिए नींबू पानी और रहें स्वस्थ

इस स्टडी को पूरा होने में तकरीबन 13 साल का वक्त लगा. स्टडी के लेखक ने अपने निष्कर्ष में लिखा, ‘पैदल चलना अपने आप में एक पूरी कसरत है. इस के लिए किसी तरह के उपकरण या साजोसामान या ट्रेनिंग की जरूरत नहीं होती है और इसे किसी भी उम्र का व्यक्ति आसानी से कर सकता है.’

तो फिर देरी किस बात की. तैयार हो जाइए चलने के लिए. हम तो कहते हैं कि कमर कस लीजिए और रोजाना कुछ मिनट पैदल चल कर अपनी जिंदगी को बीमारियों से दूर भगाइए.

Tags:
COMMENT