सर्दी के दिनों में हम पानी का इनटेक कम कर देते हैं. ठंड की वजह से हमें प्यास ज्यादा नहीं लगती. लेकिन क्या आप जानते हैं कि सर्दी के दिनों में उचित मात्रा में तरल पदार्थ हमारे शरीर में न पहुंचने से हमारा खून गाढ़ा हो जाता है. इस कारण रक्तसंचार में व्यवधान और धमनियों में प्रेशर बढ़ जाता है. रक्तसंचार ठीक रखने के लिए हमारे दिल को ज्यादा काम करना पड़ता है. इस वजह से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए गर्मी हो या सर्दी, दिन भर में दो से तीन लीटर पानी पीना आवश्यक है. पानी सिर्फ प्यास ही नहीं बुझाता है, बल्कि यह शरीर के कई रोगों का निवारण भी करता है. पानी हमारे शरीर के लिए औषधि है.

Tags:
COMMENT