क्रिकेट में रिकॉर्ड बनना और टूटना आम बात है. हर खिलाड़ी कोई ना कोई रिकॉर्ड अपने नाम करना चाहता है जिससे क्रिकेट इतिहास में उसका नाम लिखा जाए. लेकिन कई बार ऐसा भी होता है जब कोई खिलाड़ी ना चाहते हुए भी अनचाहे रिकॉर्ड का हिस्सा बन जाता है.

क्रिकेट में ऐसे हजारों खिलाड़ी हैं जिनके साथ अनचाहे रिकॉर्ड्स जुड़े. ये खिलाड़ी इन रिकॉर्ड्स को शायद ही कभी याद करना चाहेंगे. तो आईए जानते हैं क्रिकेट के कुछ ऐसे ही अनचाहे रिकॉर्ड्स के बारे में जिनका हिस्सा कोई भी खिलाड़ी नहीं बनना चाहता.

वनडे में सबसे ज्यादा शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड

कोई भी बल्लेबाज डक आउट हो पवेलियन लौटना नहीं चाहता. लेकिन जरा सोचिये उस खिलाड़ी को कितनी शर्मिंदगी झेलनी पड़ती होगी जिसके नाम सबसे ज्यादा शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड है. वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा मौकों पर शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड श्रीलंका के विस्फोटक बल्लेबाज सनथ जयसूर्या के नाम है. 445 मैचों में जयसूर्या सबसे ज्यादा 34 बार शून्य पर आउट हुए हैं. इनमे उनके नाम 10 गोल्डेन डक भी है, यानी 10 मौकों पर वो पहली ही गेंद पर आउट हुए.

सबसे ज्यादा नर्वस नाइंटिज का रिकॉर्ड

कोई भी बल्लेबाज 90 के आंकड़ें तक पहुंचने के बाद शतक तक जरूर पहुंचना चाहता है. लेकिन हर इच्छा पूरी हो ये जरूरी नहीं. शतकों का शतक बनाने वाले महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के शतकों की संख्या और ज्यादा होती लेकिन वो अपने पूरे करियर में सबसे ज्यादा बार 90 के आंकड़ें तक पहुंचने के बाद उसको शतक में तब्दील नहीं कर पाए. सचिन कुल 28 बार 90 से 99 के बीच पवेलियन लौटे.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT