तमिलनाडु में जन्मी और भारतीय महिला टीम की पूर्व कप्तान शांता रंगास्वामी भारत की पहली महिला क्रिकेटर हैं. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई ने उन्हें लाइफटाइम अचीवमैंट पुरस्कार से नवाजा है.

रंगास्वामी ने 12 टैस्ट मैचों और 16 एकदिवसीय मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की है. बीसीसीआई ने महिला क्रिकेटरों के लिए लाइफटाइम अचीवमैंट पुरस्कार की शुरुआत इसी वर्ष की है. इस पुरस्कार को पाने वाली शांता रंगास्वामी पहली महिला खिलाड़ी हैं. उन्होंने टैस्ट क्रिकेट में 32 के औसत से 750 रन बनाए. उन के नाम 1 शतक और 6 अर्धशतक हैं. वहीं एकदिवसीय मैचों में उन्होंने 287 रन बनाए. 50 रन उन का सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर है.

COMMENT