लेखक-प्रो. रवि प्रकाश मौर्य, डा. सुमन प्रसाद मौर्य

हमारे यहां ग्रामीण क्षेत्रों में चूहे को विभिन्न नामों से जाना जाता है. कहीं चुहिया, कहीं मूस, तो कहीं मूसी कहते हैं. चूहा घर व खेतखलिहान तक हानि पहुंचाता है.

चूहे द्वारा हानि घरों में हानि : चूहे घरों में रखे सामान को खा जाते हैं. चूहों के काटने से मनुष्य में स्पाइरल मूसक दंश हो जाता है. म्यूसन टाइफस व टाइफस बुखार दोनों बीमारी चूहों द्वारा ही इनसान को होती हैं. जब चुहिया घरों के कपड़ों में पेशाब कर देती है तो वही कपड़े बिना धुले पहन लेने पर लैप्टो स्पाइरल पीलिया बीमारी इनसानों में हो जाती है. घरों में रखे अनाजों में जब चुहिया मलमूत्र कर देती है और उसी अनाज को बिना धुले हुए इस्तेमाल किया जाता है, तो उस में क्लोस्ट्रीडियम, नोटिलियम नामक बैक्टीरिया होता है, जिस से फूड पौयजनिंग हो जाता है.

Tags:
COMMENT