खस्ता उत्तर भारत में शौक से खाया जाता है. आलू की सब्जी के साथ यह ज्यादा स्वादिष्ठ लगता है. सुबह के नाश्ते में यह बहुत पसंद किया जाता है. करीबकरीब हर शहर में दुकानों पर सुबहसुबह नाश्ते के लिए गरमागरम खस्ता तैयार किया जाता है. यह उड़द की दाल भर कर भी बनाया जाता है. आलू की सब्जी, मिर्च और चटनी के साथ इसे खाया जाता है. 2 से 4 खस्ते अच्छेखासे भोजन की तरह पेट को भर देते हैं. कई जगहों पर इसे जलेबी के साथ भी खाया जाता है. खस्ता और जलेबी का खाने में चोलीदामन वाला साथ होता है. शहरों की दुकानों से ले कर छोटे बाजारों तक में खस्ता खूब बिकता है. इस के कारोबार में भरपूर मुनाफा है. जरूरत है कि आप का खस्ता खाने वाले को पसंद आ जाए. इस तरह की दुकानें खोलने में लागत कम आती है, इस वजह से मुनाफा ज्यादा होता है. यह किसी सीजन का मुहताज नहीं, पूरे साल इस की बिक्री होती है.

COMMENT