मछलीपालन से अच्छीखासी कमाई होती है, पर मछलियों की कुछ ऐसी किस्में हैं, जो उत्पादकों को कम खर्च में मोटी कमाई देती हैं. देश के सभी राज्यों की सरकारें मछलीपालन को बढ़ावा देने की कवायद में लगी हुई हैं और इस के लिए उत्पादकों को काफी मदद भी दी जा रही है. मछली उत्पादकों को यह जानना और समझना पड़ेगा कि किस किस्म की मछली की बाजार में ज्यादा मांग है. इस से उत्पाद को खपाने के लिए खास मशक्कत नहीं करनी पड़ती है और बेहतर मुनाफा भी मिल जाता है. पंगेसियस मछली का उत्पादन कर के किसान अपनी कमाई को कई गुना बढ़ा सकते हैं. कृषि वैज्ञानिक वीएन सिंह बताते हैं कि मीठे पानी में पंगेसियस मछली का वजन काफी तेजी से बढ़ता है और यह 8 महीने में ही डेढ़ किलोग्राम की हो जाती है. यह मछली भारतीय मछली की तुलना में 5 गुना ज्यादा तेजी से बढ़ती है. 1 हेक्टेयर क्षेत्र में पंगेसियस मछली के उत्पादन में 5 लाख रुपए का खर्च आता है. इस में 60 हजार रुपए मछली के बीजों पर और 4 लाख, 40 हजार रुपए मछली के भोजन पर खर्च आता है.

Tags:
COMMENT