लेखक-मोहन लाल जाट, मंजू वर्मा और मनीषा

अब तक अजोला का इस्तेमाल खासकर धान में हरी खाद के रूप में किया जाता था, लेकिन अब इस में छोटे किसानों के पशुपालन के लिए चारे की बढ़ती मांग को पूरा करने की जबरदस्त क्षमता दिखती है. अजोला खेती की प्रक्रिया  किसी छायादार स्थान पर पशुओं की संख्या के अनुसार किसान 1.5 मीटर चौड़ी, लंबाई जरूरत के मुताबिक (3 मीटर) और 0.30 मीटर गहरी क्यारी बनाएं. क्यारी को खोद कर या ईंट लगा कर भी बनाया जा सकता है.

Tags:
COMMENT