धनिया भारतीय रसोई का खास मसाला है और इस की खासीयत से सभी वाकिफ हैं. धनिया बीज में बहुत अधिक औषधीय गुण होने के कारण इस का दवाओं से ले कर खाने तक में इस्तेमाल होता है और इस की पत्तियों की महकती खूशबू का तो जवाब नहीं. सूखा व ठंडा मौसम इस का अच्छा उत्पादन हासिल करने के लिए माकूल होता है. बीजों के अंकुरण के लिए 25 से 26 सेंटीग्रेड तापमान अच्छा होता है. धनिया की फसल के लिए पाला बहुत नुकसानदायक होता है. धनिया की अच्छी क्वालिटी के लिए ठंडी आबोहवा और खुली धूप की जरूरत होती है. धनिया की सिंचित फसल के लिए पानी निकलने वाली अच्छी दोमट मिट्टी सब से सही होती है और असिंचित फसल के लिए काली भारी मिट्टी अच्छी होती है. इस के साथ ही अच्छी उपजाऊ ताकत वाली दोमट या मटियार दोमट मिट्टी भी धनिया की खेती के लिए अच्छी होती है.

Tags:
COMMENT