पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में बुरी तरह हारने के बाद भारतीय जनता पार्टी के पास अपने कैडर को बिखरने से बचाने के लिए कोई तरीका नहीं बचा तो उस ने अपने नेताओंकार्यकर्ताओं को पिटने का नाटक कर हल्ला करना शुरू कर दिया है. यह अपना मुंह छिपाने का उस का एक हथकंडा है. अकसर घरों की धर्मनिष्ठ बूढ़ी महिलाएं अपनी बहुओं के खिलाफ इसी हथकंडे का इस्तेमाल करती हैं जब सत्ता उन के (सास) के हाथ से निकल कर बहू के हाथ में जा पहुंचती है.

भारतीय जनता पार्टी बंगाल में हालिया हुए विधानसभा चुनाव के दौरान ही अपने को जीता हुआ सम झ रही थी और इसलिए उस ने तृणमूल कांग्रेस के वर्करों की खूब पिटाई की. तब चुनाव आयोग के निर्देश पर चल रही पुलिस के हाथ बंधे हुए थे. यह देश को पता है कि मौजूदा चुनाव आयोग केंद्र की भगवा सरकार का पक्ष लेता है, हालांकि उसे निष्पक्ष होना चाहिए. अमित शाह और चुनाव आयोग ने बंगाल पुलिस की पूरी कमान भाजपा समर्थक अफसरों को सौंप रखी थी. ऐसा तकरीबन हर चुनाव में होता है कि पुलिस अफसरों का इस्तेमाल केंद्र की सत्ता पर काबिज पार्टी अपने हित के लिए करती है. बंगाल में चुनाव आयोग का फायदा उठा कर केंद्र की सत्ता पर काबिज भाजपा सरकार ने अपने चहेते अफसर अहम ड्यूटी पर लगाए थे और उन के इशारों पर भाजपा कार्यकर्ताओं का उत्पात छिपा रहा.

ये भी पढ़ें- संपादकीय

अब भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता वैसा ही शोर मचा रहे हैं जैसे पौराणिक कथाओं के देवता और ऋषिमुनि राक्षसों के आक्रमण से घबरा कर कभी विष्णु की शरण में गुहार लगाते थे. वैसे ही ममता बनर्जी के खिलाफ कभी गवर्नर, कभी केंद्रीय गृह मंत्री तो कभी गोदी मीडिया पर गुहार लगाई जा रही है. उन्हें मालूम है कि होने वाला कुछ नहीं है. बस, भाजपा के कैडर को लगेगा कि हां, कुछ हो रहा है.भाजपा का कैडर आजकल उस भीगी बिल्ली की तरह है जो अपने को शेर सम झने लगा था और गली पर राज जमा रहा था. पश्चिम बंगाल में ही नहीं, सभी राज्यों में भाजपा की हालत पतली हो रही है. उत्तर प्रदेश के पंचायती चुनावों में वह बुरी तरह फ्लौप हुई है. कोविड की लड़ाई में नरेंद्र मोदी को देश में ही नहीं, दुनियाभर में थूथू मिल रही है. जो बेचारगी आज भाजपा कैडर में छा गईर् है, वह अद्भुत है क्योंकि इस की कल्पना ही नहीं की गई थी.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT