भारतीय जनता पार्टी के दंभ और उस की मनमानी का जो जवाब जनता ने इस बार हरियाणा, महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों व 51 विधानसभा सीटों के उपचुनावों में दिया वह अप्रत्याशित था. पूरा देश तो इस बात को मन में लिख चुका था कि केंद्र सरकार कश्मीर के फैसले के बदले में जनता के वोट दान में वसूलेगी और जजमानों को खाली कर देगी. लेकिन, जनता ने कह दिया कि बस, इतना ही. यदि हर जगह वोट बंटते नहीं और दलित, मुसलमान व पिछड़े वोट एक को जाते, तो भाजपा औंधेमुंह गिरती.

Tags:
COMMENT