तेजतर्रार पत्रकार शुभममणि त्रिपाठी माफियाओं के कारनामे अखबार में उजागर करते रहते थे. जिस की वजह से वह भूमाफिया दिव्या अवस्थी की आंखों में खटकने लगे. निजात पाने के लिए दिव्या ने  अपने गुर्गों के साथ मिल कर ऐसा कदम उठाया कि...

उन्नाव शहर और कस्बा शुक्लागंज में यह खबर आग की तरह फैली कि सहजनी मोड़ पर चर्चित पत्रकार शुभममणि त्रिपाठी की बदमाशों ने हत्या कर दी है. चूंकि शुभममणि त्रिपाठी कानपुर शहर से प्रकाशित हिंदी दैनिक अखबार ‘कम्पू मेल’ के उन्नाव जिला प्रतिनिधि तथा भाजपा नेता राकेश दीक्षित के दामाद थे.

Digital Plans
Print + Digital Plans
Tags:
COMMENT