शराब का नशा केवल सेहत और आर्थिक नुकसान ही नहीं पहुंचाता है. समाज में अपराध का सबसे बडा कारण शराब का नशा होता जा रहा है. घरेलू अपराध में शराब का नशा सबसे बडा कारण बनता जा रहा है. शराब के नशे में छेडछाड, बलात्कार, मारपीट ही नहीं हत्या जैसे जघन्य अपराध भी होने लगे है. शराब के नशे में करीबी रिश्तों के भी कत्ल होने लगे है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज में नशे के शिकार नशेडी बेटे ने बुजुर्ग पिता को पीट-पीट कर उतारा मौत के घाट उतार दिया.

ये भी पढ़ें- Crime Story: एक रोटी के लिए हत्या

मोहनलालगंज के कोराना गांव में रहने वाले 70 साल के बाबूलाल रावत अपने इकलौते बेटे रामकिशुन उर्फ कालिया व पोतो के साथ रहता था. रामकिशुन नशे का आदी था. नशे में वह घर में सभी से मार पिटाई करता था. रामकिशुन के नशे की लत के चलते पिटाई से नाराज होकर उसकी पत्नी रेखा पन्द्रह दिन पहले अपने मायके चली गयी थी. 18 जून मगंलवार की शाम पांच बजे रामकिशुन नशे में धुत होकर आया. मामूली बात पर वह अपने बङे बेटे रामकरन की डंडो से पिटाई करने लगा.

ये भी पढ़ें- शादी में लड़कियों की बढ़ती धौंस

यह देखकर रामकिशुन के पिता पोते को बचाने के लिये आये. वह लकडी काटने जा रहे थे. उनको हाथ में कुल्हाङी थी. बाबा बाबूलाल ने पोते की पिटाई का विरोध करते हुये एक कुल्हाङी बेटे रामकिशुन को मार दी जिसके बाद उसकी आंखों के पास से खून निकलने लगा. जिसके बाद आगबबूला होकर रामकिशुन ने पिता बाबूलाल की डंडो से पिटाई  शुरू कर दी. रामकिशुन ने पिता का सिर फोङने के साथ ही उनको मरणासन्न अवस्था में छोड कर मौके से भाग निकला.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT