सौजन्या- सत्यकथा

14अगस्त, 2020 की सुबह के साढ़े 3 बजे का समय रहा होगा. 5 वर्षीय सायमा और उस की छोटी बहन शुमायला बुरी तरह घबराई हुई अपनी खाला फरजाना के घर पहुंचीं. खाला के घर पहुंचते ही दोनों ने जोरजोर से दरवाजा पीटना शुरू कर दिया.

‘‘खाला...खाला, किवाड़ खोलो.’’उस वक्त फरजाना का परिवार गहरी नींद में सोया था. बच्चियों के चीखने चिल्लाने की आवाज सुन फरजाना के पति तौफीक की आंखें खुल गईं.

दरवाजे पर दोनों बच्चियों को बदहवास स्थिति में देख वह भी हैरत में पड़ गया. तौफीक ने दोनों बच्चियों को घर में अंदर ले जा कर उन के आने की वजह पूछी. लेकिन दोनों बहनें डर के मारे बुरी तरह सहमी हुई थीं.

तब तक तौफीक की बीवी फरजाना भी कमरे से बाहर आ गई थी. सुबहसुबह अपनी बहन की बेटियों को देख कर वह किसी अनहोनी की आशंका के चलते घबरा गई.

ये भी पढ़ें- Crime Story: खुल गया हत्या का रहस्य

फरजाना ने उन से आने का कारण पूछा तो वे कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं थीं. फरजाना ने दोनों बच्चियों को पीने के लिए पानी दिया और प्यार से आने की वजह पूछी तो सायना ने सुबकते हुए खाला को इतना ही बताया कि अब्बू ने अम्मी को काट डाला. खून से लथपथ अम्मी घर में पड़ी हैं.

यह सुन कर फरजाना का दिल बैठ गया. वह बुरी तरह घबरा गई. बच्चियों के मुंह से यह बात सुन कर तौफीक और उस की बीवी फरजाना दोनों शहनाज के घर की ओर दौड़े. शहनाज के घर पहुंच कर देखा तो उस का दरवाजा खुला पड़ा था. सामने बरामदे में चारपाई पर शहनाज पड़ी थी. उस के बिस्तर के साथसाथ आसपास फर्श पर खून फैला था. लेकिन वहां पर तसलीम कहीं नजर नहीं आ रहा था. दोनों मियां बीवी ने शहनाज को हिलाडुला कर देखा तो पता चला वह दम तोड़ चुकी है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT