‘अपना रोग, आर्थिक स्थिति और मंशा छिपा कर रखने चाहिए,’ इस सूक्ति वाक्य को धता बताते विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सीधेसीधे मान लिया कि उन की किडनी फेल हो चुकी है और अब कृष्ण उन्हें ठीक करेंगे. कृष्णजी के तो कहीं अतेपते नहीं चले लेकिन कइयों ने सुषमा को अपनी किडनी देने की इच्छा जताई तो इस से उन की लोकप्रियता ही उजागर हुई.

COMMENT