भले ही इस बार व्यापार मेला कम जगह में लगा है, पर लोगों की निगाहें पसंदीदा चीजों को खोजने में लगी हुई हैं. कहीं डिजाइन वाली साड़ी है तो कहीं हाथ की चिकनकारी. यहां दस्तकारों व शिल्पकारों के हुनर का काफी बड़ा प्लेटफार्म नजर आता है.

यह नजारा है राजधानी नई दिल्ली के प्रगति मैदान में 38वें अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का. यह मेला आम लोगों के लिए 18 नवंबर से शुुरू हो कर 27 नवंबर तक चलेगा. इस मेले की टिकटें आम दिनों में वयस्कों के लिए 60 रुपए और बच्चों के लिए 40 रुपए है, वहीं शनिवार, रविवार और सार्वजनिक अवकाश में मेले की टिकटें वयस्कों के लिए 120 रुपए और बच्चों के लिए 60 रुपए रखी गई हैं.

व्यापर मेला रोज सुबह साढ़े 9 बजे से ले कर शाम साढ़े 7 बजे तक खुला रहेगा. प्रगति मैदान के गेट नंबर-1, 8 और 10 से दर्शक अंदर जा सकेंगे. मैट्रो से आने वाले दर्शक गेट नंबर-8 से मेले में जा सकेंगे.
भीड़ को देखते हुए हर रोज महज 25,000 लोगों को ही अंदर आने दिया जाएगा. प्रगति मैदान के प्रवेश द्वारों और प्रगति मैदान मैट्रो स्टेशन पर व्यापार मेले की टिकटें नहीं मिलेंगी. दर्शक औनलाइन टिकट भी बुक कर सकते हैं.

इस मेले में इस बार 16 देशों की बेहतरीन चीजें देखने को मिलेंगी. साथ ही, दर्शक भारत के अगल अलग राज्यों की चीजें भी खरीद सकेंगे. हौल नंबर 9 और 10 से दर्शक विदेशी चीजें खरीद सकते हैं.

मेले के आयोजन में अफगानिस्तान सहयोगी देश है जबकि नेपाल, झारखंड मुख्य आकर्षण है. व्यापार मेले की थीम ‘रूरल एंटरप्राइजेज इन इंडिया’ यानी ‘भारत में ग्रामीण उद्योग’ रखी गई है.

प्रगति मैदान में दर्शकों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. पुलिस वालों की तैनाती के अलावा लाइव सीसीटीवी मौनीटरिंग के लिए 200 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. दर्शकों को अपने साथ संदिग्ध सामान व ज्वलनशील पदार्थ न लाने की सलाह दी गई है.

इस बार व्यापार मेले में अफगानिस्तान के अलावा बहरीन, हांगकांग, इंडोनेशिया, ईरान, किर्गीस्तान, म्यांमार, नेपाल, दक्षिण कोरिया, स्वीडन, थाईलैंड, ट्यूनीशिया, तुर्की, तिब्बत, संयुक्त राष्ट्र अमीरात, यूनाइटेड किंगडम, वियतनाम जैसे देश शामिल हुए हैं.

मेले में अफगानिस्तान के स्टाल ज्यादा हैं. इन स्टालों से आप अफगानी मेवे भी खरीद सकते हैं वहीं अफगानिस्तानी ऊनी कपड़ों समेत दूसरे सामान भी यहां मुहैया हैं.

थाईलैंड के एक ज्वैलरी विक्रेता ने बताया कि पीयू लैदर के जरीए हाथों से बनाई गई ईयररिंग खास हैं. इन रिंग में मोतियों और स्टील की तार का काम किया गया है. इन्हें आसानी से धोया भी जा सकता है.

वाहन पार्किंग की सुविधा गेट नंबर 1 के सामने भैरो मार्ग पर है. इस पार्किंग का अलग से भुगतान करना होगा. पार्किंग से मेले तक जाने के लिए गेट नंबर 1 से शटल सेवा मुहैया कराई गई है. वहीं मामूली कीमत पर तमाम जगहों पर पीने का पानी मुहैया कराया गया है.

Tags:
COMMENT