वह समय चल रहा है जब कोई स्मार्ट हो या न हो, उस के पास एक स्मार्ट डिवाइस जरूर है. मोबाइल फोन कंपनियों के बीच चल रही जबरदस्त प्रतियोगिता के चलते देश के आमजन फायदे में हैं. स्मार्टफोन की कीमतें कम ही नहीं हो रहीं, उन की खरीद में डिस्काउंट भी काफी मिल रहा है. लेकिन, औफलाइन यानी स्टोर पर जा कर स्मार्टफोन खरीदने में उतना डिस्काउंट नहीं मिलता जितना औनलाइन खरीद पर मिलता है.  इसलिए, स्मार्टफोन की खरीदारी बढ़ती जा रही है.

औनलाइन रिटेल कम्पनियों जैसे अमेज़न और फ्लिपकार्ट द्वारा स्मार्टफोन की खरीद पर दिए जा रहे भारी डिस्काउंट, बयबैक औफर्स और ईजी फाइनेंसिंग औपशंस के चलते भारत में पहली बार वर्ष 2018 में स्मार्टफोन की औनलाइन बिक्री 5 करोड़ स्मार्टफोन का आंकड़ा पार कर सकती है. इतना ही नहीं, अक्टूबर-दिसम्बर की तिमाही के दौरान औनलाइन चैनल्स यानी रिटेलर्स के जरिए स्मार्टफोन की बिक्री की रफ्तार लगातार दूसरी तिमाही में इन की औफलाइन बिक्री को पीछे छोड़ने वाली है.

सीएमआर, एक रिसर्च फर्म, ने 2018 के चौथे क्वार्टर में स्मार्टफोन की औनलाइन बिक्री के साल दर साल 60-65 फीसदी बढ़ने और औफलाइन स्टोर्स पर इन की बिक्री के 4-6 फीसदी घटने का अनुमान लगाया है. दूसरी तरफ काउंटरपौइंट रिसर्च फर्म ने औनलाइन बिक्री में 51 फीसदी और औफलाइन बिक्री में 11 फीसदी के इजाफे की संभावना जताई है.

उधर, विश्लेषकों का कहना है कि दिसम्बर क्वार्टर में ऑनलाइन बिक्री में आने वाले संभावित उछाल से स्मार्टफोन की कुल बिक्री में 25फीसदी इजाफा हो सकता है.  काउंटरपॉइंट रिसर्च ने 2018 में देश में स्मार्टफोन की ऑनलाइन बिक्री के 5 करोड़ यूनिट्स का आंकड़ा पार करने का अनुमान लगाया है जो 2017 में 4.5 करोड़ यूनिट था.

एक इंटरनेशनल रिसर्च फर्म आईडीसी के एक मेनेजर का कहना है कि भारत में फेस्टिव सीजन की शुरुआत में काफी वेंडर्स ने ई-कौमर्स कंपनियों के साथ साझेदारी की. उन के साथ मिल कर ई-रिटेलर्स कम्पनियां डिस्काउंटस औफर कर रही हैं, जिन में दूसरे औफर्स भी हैं. इस के कारण ग्राहक को खरीद पर 50-60 फीसदी तक का डिस्काउंट मिल रहा है, जिस की बराबरी औफलाइन चैनल्स यानी स्टोर्स/शौप्स नहीं कर सकते.

सीएमआर के एक सीनियर अधिकारी का कहना है कि एक्सटेंडेड वारंटी  यानी गारंटी की बढ़ी हुई समय सीमा के साथ नई वैल्यू-ऐडेड सर्विसेज दिए जाने के चलते भी औनलाइन बिक्री में इजाफा हो रहा है. वही, काउंटरपौइंट रिसर्च की एक महिला विश्लेषक का कहना है कि स्मार्टफोन की कुल बिक्री में औनलाइन चैनल्स 38 फीसदी योगदान कर सकते हैं.

सीएमअआर के मुताबिक़, स्मार्टफोन की कुल बिक्री में औनलाइन चैनल्स की हिस्सेदारी 45 फीसदी रहेगी. इस साल के फेस्टिव सीजन में उछाल आने से पहले स्मार्टफोन की कुल बिक्री में औनलाइन बिक्री की हिस्सेदारी कई तिमाहियों में 32-33 फीसदी थी.

मार्किट रिसर्च फर्म टेकएआरसी ने एक कदम आगे बढ़ते हुए कहा कि स्मार्टफोन की कुल बिक्री में औनलाइन बिक्री की हिस्सेदारी आधे से अधिक रह सकती है. उस ने कहा कि अक्टूबर-दिसम्बर के दौरान यह कुल 3.6 करोड़ स्मार्टफोन की बिक्री में 53 फीसदी रह सकती है. अगर ऐसा हुआ तो यह अभी तक का पहला क्वार्टर होगा जिस में औनलाइन बिक्री औफलाइन बिक्री से ज्यादा रहेगी.

Tags:
COMMENT