कुछ वर्ष पहले नृत्य निर्देशक से निर्देशक बने रेमो डिसूजा की फिल्म ‘‘ए बी सी डी’’ की शूटिंग मुंबई स्थित फिल्मसिटी स्टूडियो के अंदर ‘रिलायंस स्टूडियो’ के सेट पर चल रही थी. सेट पर फिल्म की युनिट के सदस्य, जूनियर आर्टिस्ट व डांसर्स को मिलाकर हजारों लोग मौजूद थे.

इसी दौरान अचानक शौर्ट सर्किट के चलते आग लग गयी. इन सबके बीच रेमो डिसूजा व उनके साथी किसी तरह सभी को सेट से बाहर निकालने में कामयाब रहे. मगर फायर ब्रिगेड के पहुंचने से पहले ही पूरा सेट जलकर राख हो गया था.

remo d'souza fire ball

इस कारण तकरीबन एक करोड़ रूपए का नुकसान हुआ था. और एक माह तक शूटिंग भी रूकी रही थी. उस वक्त रेमो डिसूजा चाहकर भी सेट पर लगी आग बुझाने के लिए कुछ नही कर पाए थे. मगर अब रेमो डिसूजा ने ‘‘ब्रांड्स डैडी’’ के रोशन मिश्रा के साथ मिलकर पूरे भारत को आग की दुर्घटना से सुरक्षित बनाने का बीड़ा उठाया है.

इस ‘औटो फायर बौल’ की खासियत यह है कि अगर कहीं आग लग जाए, तो इस बौल को आग में फेंक दीजिए, बौल में मौजूद केमिकल से चंद सेकंड में ही आग बुझ जाएगी.

remo d'souza fire ball

वास्तव में ‘‘ब्रांड्स डैडी’’ कंपनी के रोशन मिश्रा ने लगभग छह माह पहले आग को कुछ सेकंड के अंदर ही बुझाने के नए उपकरण के रूप में इस बौल का इजाद किया था, जिसे उन्होने ‘औटो फायर बौल’ नाम दिया. आग बुझाने वाले इस बौल का वीडियो एक चैनल पर देखकर रेमो डिसूजा काफी प्रभावित हुए और उन्होने इसके वीडियो को अपने इंस्टाग्राम पेज पर पोस्ट कर दिया. कुछ समय बाद रेमो डिसूजा के इंस्टाग्राम पेज पर इस वीडियो को देखकर ‘ब्रांड्स डैडी’ के रोशन मिश्रा ने रेमो डिसूजा से मुलाकात की.

फिर दोनों ने मिलकर इसके माध्यम से पूरे देश को आग से सुरक्षित बनाने के लिए एक मुहीम चलाने का निर्णय लेकर हाथ मिला लिया. इसी मुहीम को गति देने के लिए हाल ही में रेमो डिसूजा ने ‘‘ब्रांड्स डैडी’’ के रोशन मिश्रा के साथ मिलकर मुंबई के पांच सितारा होटल जे डब्लू मैरिएट में ‘‘औटो फायर बौल’’ के लोकार्पण का भव्य समारोह आयोजित किया, जहां पत्रकारों के साथ ही कुछ आम नागरिकों को भी निमंत्रित किया गया था.

remo d'souza fire ball

इस अवसर पर रेमो डिसूजा ने पत्रकारों से कहा – ‘‘मेरी फिल्म एबीसीडी की शूटिंग के दौरान सेट पर आग लग गई थी. उस वक्त सेट पर जूनियर कलाकार, डांसर्स व युनिट के सदस्यों को मिलाकर करीबन एक हजार लोग मौजूद थे, हम सभी को सुरक्षित बचाने में कामयाब हुए थे. लेकिन फायर ब्रिगेड के आने तक पूरा सेट जल चुका था. यदि उस वक्त सेट पर यह ‘औटो फायर बौल’ होता, तो शायद हम आग पर जल्दी काबू पा सकते थे. मैंने खुद इस बौल के साथ डेमो वाला वीडियो फिल्माया है. इस बौल में कुछ ऐसी गैस हैं, जो आग को ठंडा कर देती हैं. जैसे ही आग में इस बौल को फेंका जाता है, वैसे ही यह बौल खुदबखुद फट जाता है. इसे घर के अंदर, कार के अंदर या बाइक में भी रखा जा सकता है और कहींं भी किसी भी चीज में आग लगने पर चंद सेकंड में उस आग को बुझाया जा सकता है. इस ‘औटो फायर बौल’ का वजन महज एक किलो 300 ग्राम है. इसका उपयोग करने के लिए किसी विशेष प्रशिक्षण की जरूरत नही है. पांच साल का बच्चा भी इसका इस्तेमाल कर आग बुझा सकता है.

इसलिए मैंने इस बौल को आम लोगों तक पहुंचाने व इसे एक मुहीम बनाने के लिए अपनी फिल्म के नाम के अनुरूप ही इसे नाम दिया है – ‘एनी बडी कैन डील फायर’. यानी कि कोई भी आग पर काबू पा सकता है.’’

इस अवसर पर ‘‘ब्रांड्स डैडी’’ के रोशन मिश्रा ने कहा – ‘‘ हाल के दिनों में देखें, तो सिर्फ मुंबई में आग लगने की हजारों घटनाएं सामने आई हैं. इन घटनाओं में आग से मुंबई के आम नागरिकों के साथ साथ फायर ब्रिग्रेड के कई जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. ज्यादातर मामलों में कारण लोगों को आग पर काबू पाने की जानकारी न होना और मुंबई के भयानक ट्रैफिक के चलते फायर बिग्रेड का समय से न पहुंच पाना है. ऐसे में यह ‘औटो फायर बौल’ आग पर काबू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.’’

‘‘औटो फायर बौल’’ की कीमत पांच हजार रुपए है. और इस बौल की पांच वर्ष की गारंटी है. मगर रेमो डिसूजा ने इस मुहीम से जुड़कर एक नई योजना शुरू करायी है. इसके तहत पांच हजार रुपए में इस ‘औटो फायर बौल’ को खरीदने के बाद यदि पांच वर्ष तक इसका उपयोग नहीं किया गया, तो पांच वर्ष बाद यह बौल कंपनी को वापस करके उसके बदले में कंपनी से नया बौल मुफ्त में लिया जा सकेगा, जोकि अगले पांच वर्ष के लिए होगा. यह प्रक्रिया सतत चलती रहेगी.

Tags:
COMMENT