बौलीवुड में #MeToo अभियान की शुरूआत हुई, और इस अभियान के तहत अब तक कई महिला कलाकारों ने यौन उत्पीड़न के बारे में खुलकर बोला है. इस अभियान ने सभी के लिए कार्यस्थल पर एक सुरक्षित माहौल प्रदान करने जैसे मुद्दे पर बहस को शुरू कर दिया है.

लेकिन एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा का मानना है कि फिलहाल इस बारे में वास्तव में बदलाव आने के बजाय इसे लेकर शोर-शराबा ज्यादा है.

रिपोर्टस के मुताबिक जब मलाइका से #MeToo पर हो रही चर्चा और बदलाव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा,  मुझे ज्यादा बदलाव नजर नहीं आ रहा है. मैं लोगों की बातों को सुन रही हूं. मुझे लगता है कि बदलाव की अपेक्षा इसे लेकर शोरशराबा कहीं ज्यादा है.”

एक बेटे की मां मलाइका ने कहा, “अगर हम मनोरंजन उद्योग की बात कर रहे हैं तो बहुत कुछ होता दिखाई दे रहा है. लोग इस बारे में बात कर रहे हैं. लेकिन, वास्तविक बदलाव के लिए या लोगों द्वारा आगे आकर इस बारे में कुछ करने और अभियान को सफल करने के लिए मानसिकता में बदलाव की जरूरत है और यह बदलाव रातोंरात नहीं आ सकता.”

मलाइका इन दिनों टीवी शो ‘इंडियाज नेक्स्ट टॉप मॉडल-4’ करती नजर आ रही हैं. इसका प्रसारण एमटीवी पर होता है.

बता दें, कई बड़े नामों जैसे गुरसिमरन खंबा, कैलाश खेर, रजत कपूर, आलोक नाथ, विकास बहल, चेतन भगत, अनु मलिक और साजिद खान पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे.

COMMENT