फिल्म ‘दिल चाहता है’ से निर्देशन के क्षेत्र में उतरने वाले फरहान अख्तर सिनेमा जगत से जुड़े दूसरे क्षेत्रों में भी धीरेधीरे कदम बढ़ाते रहे. उन की गिनती आज मशहूर फिल्म निर्माता, निर्देशक, लेखक व अभिनेता के रूप में होती है. इन दिनों वे फिल्म ‘भाग मिल्खा भाग’ में मिल्खा सिंह का किरदार निभा कर चर्चा में हैं. हाल ही में शांतिस्वरूप त्रिपाठी ने उन से मुलाकात की. पेश हैं मुख्य अंश :

फिल्म ‘भाग मिल्खा भाग’ करने से पहले आप मिल्खा सिंह से कितना वाकिफ थे?

सच कहूं तो उन्हें बहुत ज्यादा नहीं जानता था. मुझे यह पता था कि मिल्खा सिंह बहुत बड़े ऐथलीट हैं और उन्होंने तमाम रिकौर्ड बनाए हैं. लेकिन मुझे यह नहीं पता था कि उन्होंने 80 रेसों में भाग लिया और 77 में जीत हासिल की. उन की जिंदगी में क्याक्या हुआ, इस के बारे में भी मुझे जानकारी नहीं थी.

यह कैसी फिल्म है?

यह फिल्म एक ऐसे इंसान के जीवन पर आधारित है जो समाज के लिए प्रेरणादायक है. मेरा मानना है कि समयसमय पर देश की युवा पीढ़ी को जगाने के लिए इस तरह की प्रेरणादायक कहानियों पर फिल्में बनाई जानी चाहिए.

‘भाग मिल्खा भाग’ में अभिनय करने से आप के जीवन या आप की सोच में क्या बदलाव आया?

मिल्खाजी ने देश को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान दिलवाया है. इंसानी तौर पर उन्होंने जो कुछ भी अपनी जिंदगी में सहा है, वह हमारे लिए प्रेरणादायक है. उन के प्रति मेरे मन में आदर बहुत ज्यादा बढ़ गया है.

मिल्खा सिंह से आप की पहली मुलाकात कब और कहां हुई?

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...