तेजी से बदलते वक्त के साथ बहुत कुछ बदला है. देश व समाज ने काफी प्रगति कर ली है. कई अत्याधुनिक मनोरंजन के साधन आ गए हैं. मगर इंसानी स्वभाव, उसके अंदर के लालच और उस लालच की वजह से उपजने वाली कुंठा आदि आज भी ज्यों का त्यों है. इसी मानवीय स्वभाव को हास्य व व्यंग के साथ फिल्म ‘‘2 बैंड रेडियो’’ में लेकर आ रहे हैं फिल्म निर्माता व अभिनेता राहत काजमी तथा निर्देशक सकी शाह.

Tags:
COMMENT