मोहिनी घोष जब एक साल की थीं, तब उन के फोटो को ‘फैरैक्स बेबी’ के प्रचार के लिए चुना गया था. उन्होंने बंगला फिल्मों में लंबे समय तक काम किया है. 17 साल की उम्र में वे ‘मिस कोलकाता’ बनी थीं. बाद में वे बंगला फिल्मों के साथसाथ हिंदी व भोजपुरी फिल्में भी करने लगी थीं. बाल विवाह पर बनी हिंदी फिल्म ‘एक नई सुबह’ में उन की ऐक्टिंग को बहुत सराहा गया था. पेश हैं, मोहिनी घोष के साथ हुई बातचीत के खास अंश:

COMMENT