जब ‘‘गैंग औफ वासेपुर’,‘एक थी डायन’, ‘डेढ़ इश्किया’,‘बदलापुर’ सहित कई हिंदी फिल्मों में अभिनय कर अपनी एक अलग पहचान बनाने के बाद हौलीवुड फिल्म ‘‘वासराय हाउस’’ में अभिनय कर उन्होंने अपने अभिनय को नाए आयाम दिए. वेब सीरीज ‘लैला’ करके तो वह विश्व स्तर पर एक उल्लेखनीय भारतीय प्रतिभा के रूप में उभरी. और देश को गौरवान्वित करने का भी काम किया. इन दिनों वह हौलीवुड निर्देशक जैक सैंडर के साथ फिल्म ‘‘आर्मी आफ द डेड’’ में हौलीवुड के कलाकारों के संग काम कर रही हैं.

एक तरफ वह अभिनय में नए कीर्तिमान स्थापित कर रही हैं, तो दूसरी तरफ वह बच्चों के लिए नियमित समाज सेवा के काम करती रहती है. इसी के चलते हुमा कुरैशी पिछले दिनों पड़ोसी देश नेपाल में एक परोपकारी कार्य करती हुई नजर आयीं. वेब सीरीज ‘लैला’ के बाद हुमा कुरेशी ने पड़ोसी देश नेपाल के दूरदराज के हिस्सों की यात्रा की, जिसमें ग्लोबल नौन प्रौफिटेबल और्गनाइजेशन ‘सेव द चिल्ड्रन‘ भी शामिल था.

ये भी पढ़ें- “छोटी सरदारनी”: आखिर क्यों परम के बिना सरबजीत और मेहर जा रहे हैं सर्बिया

huma-qureshi

यह संस्था दुनिया की अग्रणी स्वतंत्र बाल अधिकार के लिए काम करने वाली एनजीओ है, जो प्रत्येक बच्चे को उज्ज्वल भविष्य के लिए सर्वोत्तम अवसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है. इस संस्था  के साथ करीबी से जुड़े होने की वजह से हुमा नेपाल गयीं और उन बच्चों के साथ बातचीत की. अभिनेत्री ने उन बच्चों के साथ समय बिताया, जो सप्तरी और राजबिराज में ईसीसीडी (प्रारंभिक बचपन देखभाल और विकास) कार्यक्रमों में नामांकित थे. हुमा ने इस मुलाकात को दिल को छू लेने वाला बना दिया, क्योंकि न सिर्फ वह बच्चों के साथ खेलीं और बातचीत की, बल्कि उनके साथ तस्वीरें भी खिंचवायीं. इतना ही नहीं शाम को वह उनके साथ नेपाली गानों पर जमकर नाची.

ये भी पढ़ें- ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’:  फिर टूटेगा कायरव का दिल, क्या करेगी नायरा ?

हुमा कुरेशी कहती हैं- ‘‘मेरी दो  दिनों की नेपाल यात्रा और इस यात्रा के दौरान बच्चों को बचाने के लिए किए गए अद्भुत काम को देखना एक अविश्वसनीय अनुभव रहा. प्रोग्राम्स और स्कौलरशिप इन खूबसूरत बच्चों की जिंदगी में बड़े बदलाव ला रहे है. मैं खुद को बहुत धन्य महसूस कर रही हूं कि मुझे यह अनुभव करने का मौका मिला. यह मौका देने के लिए मैं ‘सेव द चिल्ड्रन‘ और कैथरीन की बहुत बहुत आभारी हूं. मैं ‘सेव द चिल्ड्रन‘ के लिए आधिकारिक तौर पर योगदान देने का और इंतजार नहीं कर सकती.

Tags:
COMMENT