थिएटर से अभिनय करियर शुरू करने वाले गजराज राव ने 1994 में प्रदर्शित फिल्म ‘‘बैंडिट क्वीन’’से लेकर ‘‘तलवार’’ आदि बहुत चुनिंदा फिल्में ही की हैं. वास्तव में बौलीवुड में एक कलाकार के संघर्ष को देखकर उन्होंने कई वर्ष पहले ही तय कर लिया था कि वह अपने कला के शौक के लिए अपने परिवार को रूलाने की बजाय कला के साथ साथ कुछ रचनात्मक काम करते हुए धन कमाएंगे. इसी विचार के साथ उन्होंने अपनी कंपनी ‘‘ग्रेड फिल्मस’’ के तहत विज्ञापन फिल्में बनानी शुरू की. एक तरफ वह विज्ञापन फिल्में बनाते रहे तो दूसरी तरफ वह ‘‘नो स्मोकिंग’’, ‘‘आमिर’’,  ‘‘तलवार’’ सहित कुछ चुनिंदा फिल्मों में अपनी उपस्थिति दर्ज कराते रहे. अब वह 18 अक्टूबर को प्रदर्शित हो रही फिल्म ‘‘बधाई हो’’ में नजर आने वाले हैं.

COMMENT