वक्त वक्त की बात है. लगभग डेढ़ वर्ष पहले तक पहलाज निहलानी ‘‘केद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड’’ के चेयरमैन पद पर आसीन थे. उस वक्त वह अपनी इस संस्था व खुद को पाक साफ बता रहे थे, जबकि उनके कार्यकाल में भी ‘‘केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड’’ पर कई फिल्मकारों ने आरोप लगाए थे. उनके कार्यकाल में इतना हंगामा हुआ था कि पहलाज निहलानी को अपने कार्यकाल के समाप्त होने से साढ़े पांच माह पहले ही अपने पद से त्यागपत्र देना पड़ा था.

Tags:
COMMENT