रेटिंग: ढाई  स्टार

अवधिः 2 घंटे 5 मिनट

निर्माताः नरेंद्र हीरावत और विकास मनी

निर्देशकः अश्विनी चौधरी

पटकथा: विकास मनी और अश्विनी चौधरी

कलाकारःपवन मल्होत्रा, आफताब शिवदसानी, श्रेयष तलपड़े, सोनाली सेहगल, इशिता दत्ता, विजय राज व अन्य.

कैमरामैन: संतोष थुंडियाली

शिक्षा व्यवस्था को दीमक की तरह चाट रहे पेपर लीक कराने व नकल कराने वाले गिरोह और इनकी कार्यशैली को लेकर अब तक कई फिल्में बन चुकी हैं. कुछ माह पहले इमरान हाशमी की फिल्म ‘‘व्हाय चीट इंडिया’’ भी इसी विषय पर बनी थी. अब उसी घिसे पिटे विषय पर अश्वनी चैधरी फिल्म ‘‘सेटर्स’’ लेकर आए हैं, जिसमें उन्होंने दिखाया है कि इस गिरोह की मदद अपराधियों को सजा देने वाले जज से लेकर पुलिस विभाग के उच्चाधिकारी भी अपने बेट या बेटी को व्यावसायिक परीक्षा में पास कराने के लिए लेते रहते हैं. ऐसे में वह इस गिरोह पर अंकुश कैसे लगाएंगे. फिल्म में विस्तार से इस गिरोह की कार्यप्रणाली का चित्रण किया गया है. इस फिल्म की एक ही खासियत है कि इस फिल्म में मोबाइल व ब्लू टूथ की हाई टेक/नई तकनीक का उपयोग यह गिरोह किस तरह करता है, उसका भी चित्रण है.

Tags:
COMMENT