रेटिंगः तीन स्टार

निर्माताः स्वप्ना कृष्णा

निर्देशकः एस कृष्णा

लेखकः कृष्णा, डी एस कानन और मधू

संगीतकारः अरूण जन्या

कैमरामैनः करूणाकर ए

कलाकारः किच्चा सुदीप, आकांक्षा सिंह, सुनील शेट्टी, सुशांत सिंह, कबीर दुहन सिंह, अविनाश अपन्ना, शरत लोहिताश्व, रघु गौड़ा व अन्य.

अवधिःदो घंटे 46 मिनट

‘फूंक’, रन’, ‘रक्तचरित्र 2’, ‘बाहुबली एक’ के अलावा हिंदी में डब दक्षिण भारतीय फिल्म ‘‘मक्खी’’ में नजर आ चुके दक्षिण भारतीय सुपर स्टार किच्चा सुदीप इस बार ‘‘पहलवान’’ में हीरो बनकर आए  हैं. ‘पहलवान' मूलतः कन्नड़ भाषा की फिल्म है, जिसे तमिल, तेलगू, मलयालम व हिंदी में डब कर एक साथ ही प्रदर्शित किया गया है. बौलीवुड में खेल खासकर कुष्ती को लेकर ‘दंगल’ व ‘सुल्तान’ सहित कुछ अच्छी फिल्में आ चुकी हैं, मगर ‘पहलवान’ खेल जगत की पृष्ठभूमि पर बनी एक अलग तरह की एक्शन व रोमांचक फिल्म है. ‘पहलवान’ में कुष्ती’ के साथ साथ ‘बाक्सिंग’, राजे रजवाड़े खत्म होने के बावजूद राजवंश के वंषज का दंभ तथा स्पोर्ट्स जगत की असलियत पर भी रोशनी डाली गयी है. फिल्म में एक जगह एक बच्ची जो कि अब दौड़/ रेसिंग के लिए प्रैक्टिस करने की बजाय मजदूरी कर रही है, का संवाद है- ‘‘दुर्भाग्य से हम प्लेअर (खिलाड़ी) से लेबरर(मजदूर) बन गए है.’’एक छोटी बालिका का यह कथन समाज व सरकार पर करारा तमाचा है.

Tags:
COMMENT