रेटिंगः डेढ़ स्टार

अवधिः दो घंटे 17 मिनट

निर्माताः भूषण कुमार, महावीर जैन, मृगदीप सिंह लांबा, दिव्या खोसला कुमार व कृष्ण कुमार

निर्देशकः शिल्पी दास गुप्ता

लेखकः गौतम मेहरा

संगीतकारः तनिश्क बागची, रोचक कोहली, बादशाह व पायल देव

कलाकारः सोनाक्षी सिन्हा, वरूण शर्मा, नादिरा बब्बर, प्रियांशु जोरा,  कुलभूषण खरबंदा, अन्नू कपूर, परेश आहुजा व अन्य.

औरतों के प्रति दकियानूसी सोच रखने वाले भारत देश में एक पंजाबी लड़की अपने मामा के पुश्तैनी सेक्स क्लीनिक ‘‘खानदानी शफाखाना’’ की बागडोर संभालने पर दकियानूसी समाज के पुरूष व औरतें किस तरह की बातें करती हैं, उन सब को लेकर यह एक हास्यप्रद नाटकीय फिल्म है. जिसमें सेक्स पर खुलकर बात होनी चाहिए और सेक्स शिक्षा की जरुरत को हास्य के साथ बहुत ही सतही तौर पर पेश किया गया है.

Tags:
COMMENT