‘विक्की डोनर’, ‘पिकू’ और ‘पिंक’ जैसी फिल्मों के सर्जक शुजीत सरकार की प्यार में कोई शर्त नहीं होती के साथ ही पैशनेट प्यार की बात करने वाली फिल्म ‘‘अक्टूबर’’ दर्शकों को अवसाद व उदासी ही बांटती है.

फिल्म की कहानी दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल से शुरू होती है, जहां होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद कुछ लड़के व लड़कियां ट्रेनी के रूप में काम कर रहे हैं. इनके साथ शर्त है कि इन्हे ट्रेनी के दौरान उपस्थित बनाए रखते हुए शिकायत का मौका नहीं देना है. बीच में खुद छोड़ कर गए या होटल प्रबंधक ने उन्हे निकाल दिया, तो उनके माता पिता को होटल प्रबंधक को तीन लाख रूपए चुकाने पड़ेंगे.

Tags:
COMMENT