सिंगार को दुनियाभर की औरतें अपना जन्मसिद्ध अधिकार मानती हैं. सिंगार बिना औरत रह ही नहीं सकती. औरत शहर की हो, गांव की या जंगल की, वह किसी न किसी तरह खुद को सजा-संवार कर ही रखना चाहती है. सिंगार के बिना वह खुद को मुकम्मल नहीं देखती. सिंगार के लिए अगर उसे अपने शरीर को छिदवाना या गुदवाना भी पड़े तो वह उससे भी परहेज नहीं करती है, फिर चाहे कितना भी दर्द क्यों न हो. आप यह देखकर आश्चर्य में पड़ जाएंगे कि भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर में आदिवासी महिलाएं सिंगार को लेकर कितनी उतावली और उत्साहित हैं. उनके सिंगार तो आपको आश्चर्य में डाल देंगे –

  1. योनोमी जनजाति, ब्राजील

दक्षिण अमेरिका के वर्षावन में रहने वाली योनोमी जनजातियां बाहरी दुनिया के लोगों से बहुत कम संपर्क में रहती हैं. इस जनजाति को आज सबसे अधिक खतरे में माना जा रहा है क्योंकि बाहरी लोगों के संपर्क में आने से उनमें तरह-तरह के रोग पनप रहे हैं और ब्राजील सरकार उनकी घुसपैठियों और रोगों से रक्षा नहीं कर पा रही है. इस जनजाति की महिलाएं बहुत मेहनती होती हैं और जीवन में बहुत संघर्ष करती हैं. इनका सिंगार अनोखा होता है. ये शरीर में जगह-जगह छेद करके रंगीन स्टिक से अपना सिंगार करती हैं. कई नृविज्ञानियों का मानना है कि इनका स्टिक भेदी आचरण या तो एक सजावटी प्रकृति है या किशोरावस्था की निशानी है. अफसोस की बात है कि ये महिलाएं अपहरण और मारपीट की बहुत शिकार बनती हैं.

ये भी पढ़ें- बचा ही लिए गए सुनहरे लंगूर

weird-news

2. दासनच जनजाति, इथियोपिया

अफ्रीका के पूर्वी छोर पर स्थित इथियोपिया न केवल शानदार प्राकृतिक नजारों से भरपूर है, बल्कि यह देश अनेक अनोखी जनजातियों का घर भी है, जिनकी समृद्ध परम्पराएं और अनुष्ठान भी कम हैरान करने वाले नहीं हैं. इथियोपिया में ओमो घाटी स्वदेशी लोगों के सबसे अधिक आबादी वाले क्षेत्रों में से एक है. वहां अनूठी संस्कृति के लोग रहते हैं जो कचरे को जमा करके उनसे अपने गहने निर्मित करते हैं. इन गहनों से यहां की महिलाएं अपना सुन्दर सिंगार करती हैं.

weird-news

3. अपतानी महिला, भारत

अपतानी जनजाति भारत के अरुणाचल प्रदेश में वास करती है. इनकी महिलाओं को बहुत सुंदर माना जाता है, इसलिए अन्य जनजातियों के पुुरुषों की नजरों से बचने के लिए वे अपनी नाक को विदू्रपता के स्तर तक बड़ा कर लेती हैं. वे नाक में ऐसा प्लग नुमा आभूषण पहनती हैं ताकि उनकी नाक बहुत भद्दी नजर आए. यह नाक प्लग कोई सौन्दर्य की चीज नहीं है, बल्कि बुरी नजर से बचाव का शस्त्र है.

ये भी पढ़ें- अनूठा शौक

ajab

4. अफार जनजाति, इथियोपिया

इथियोपिया की एक और खूबसूरत जनजाति है अफार. इस जनजाति में सौन्दर्य के मानक बिल्कुल अलग हैं. इनकी महिलाएं एक विशेष तरीके से अपने बालों को रौंदती हैं और कई चोटियां बनाती हैं. बेहत तेज रंगों के इनके आभूषण इनकी सुन्दरता में चार चांद लगाते हैं. इसके अलावा ये सुन्दर रंगों से शरीर को पेंट भी करती हैं. इनके कपड़े भी चटख रंगों के होते हैं.

ajab-gajab

5. मुर्सी जनजाति, इथियोपिया

मुर्सी जनजाति की महिलाओं को उनके लटके हुए होंठों से पहचाना जाता है. बचपन से ही लड़कियों के होंठों को खींच कर बड़ा किया जाता है. वहीं शरीर को रंगने और फलों को आभूषण बना कर धारण करने के आश्चर्यजनक आइडिया भी उनके पास हैं. मुर्सी औरतें अपने सिर को सींग और पुष्प मुकुट के साथ सजाने के लिए जानी जाती हैं और चेहरे सहित पूरे शरीर को पेंट करती हैं. अपना इतना डरावना रूप पहले वे अपहरण और गुलामी से बचने के लिए करती थीं, जो अब उनकी परंपरा बन गया है. इनकी महिलाओं का अंगभंग भी किया जाता है ताकि वे गुलाम बनाये जाने के अयोग्य हो जाएं.

ये भी पढ़ें- 7 सहेलियों का खूबसूरत घर

ajag

6. लाहुई जनजाति, वियतनाम

लाहुई जनजाति के लोग अपने दांत काले रंग से पेंट करते हैं और इसे खूबसूरत मानते हैं. लाहुई जनजाति की महिलाएं अपने दांतों को काले रंग से पेंट करके यह दर्शाती हैं कि वे अब शादी करने के लिए तैयार हैं. यह कस्टम एशिया के अन्य हिस्सों में भी लोकप्रिय है. यह जापान के समाज में एक उच्च स्तर का प्रतीक है.

ajab-gajab

7. दायक महिला, इंडोनेशिया

इंडोनेशिया में दायक जनजाति में सुराखों का विस्तार हमेशा मुख्य रूप से सुंदरता का संकेत माना जाता था. उनकी महिलाओं के कान बहुत छोटी उम्र में छेद दिये जाते हैं और भारी वजन के झुमकों को पहना कर उन छेदों को लम्बा किया जाता हैे. यह एक दर्दनाक परंपरा है. हालांकि अब इस जनजाति के भीतर बहुत कम महिलाएं ऐसा करती हैं.

ajab-gajab

8. बेबी फैट ओयेबोल , दक्षिण कोरिया

दक्षिण कोरिया के लोग खूबसूरत दिखना पसंद करते हैं. खुबसूरती की यह ललक उन पर इसकदर हावी है कि यहां की महिलाओं को बच्चों की तरह खुबसूरत स्किन दिखाने के लिए प्लास्टिक सर्जरी तक का सहारा लेना पड़ता है और वे अपने चेहरे पर गहरा मेकअप भी लगाती हैं जो उन्हें बिल्कुल बेबी स्किन जैसा ग्लो और लुक देता है.

ये भी पढ़ें- भारत का सब से गहरा सीढ़ीदार कुआं 

Tags:
COMMENT