बेटियों को जो लोग कमजोर समझते है उनको अपनी सोच बदल लेनी चाहिये. बेटियां कई क्षेत्रों में अपनी मजबूत इच्छा शक्ति कि मिसाल कायम कर रही हैं. ऐसी ही बेटियों में एक नाम लखनऊ में रहने वाली अंकिता वाजपेई का है. डांस का शौक रखने वाली अंकिता ने कम उम्र में ही बहुत ऊंचे मुकाम हासिल किये हैं. अंकिता 8 घंटे तक लगातार घड़े पर खड़े रहकर डांस कर चुकी है. इसके अलावा उसने 8 घंटे तक घुटने घुटने पानी में रहकर डांस किया.

अंकिता ने रिवर साइड एकेडमी के स्वीमिंग पूल में घुटने घुटने पानी के बीच खड़े रहकर पूरे रिदम के साथ डांस किया. अंकिता ने पानी में डांस करने के लिये ‘बरसों रे मेघा‘ और ‘अब के सावन’ जैसे गानों पर डांस किया. आंकिता ने लावणी और राजस्थानी डांस को पूरी तरह से रचबस कर लोगों का दिल जीत लिया. पानी में 8 घंटे लगातार डांस करना सरल काम नहीं था. अंकिता ने कहा ‘जब मैने 8 घंटे घड़े पर खड़े होकर डांस किया था, उस समय ही मुझे लगा था कि अब इसको अलग तरह से करना है.

14 साल की अंकिता कत्थक सहित तमाम तरह का डांस करती हैं. कत्थक उसका पंसदीदा डांस है. अंकिता कहती हैं कि डांस के क्षेत्र में मुझे नई ऊंचाइयों तक जाना है. पानी में 8 घंटे डांस करने के बाद सृजन फाउंडेशन ने अंकिता का सम्मान किया. सृजन फाउडेंशन के अमित सक्सेना ने बताया कि अंकिता ने अपने डांस से लोगों का ध्यान पानी की ओर आकर्षित किया है. आने वाले समय में पानी समाज के सामने सबसे बडे मुद्दे के रूप में होगा. संयोगिता महाजन फाउंडेशन के अनुराग महाजन ने कहा ‘अंकिता का नाम इंडियन बुक औफ रिकार्ड और मार्कलस रिकार्ड बुक के लिये भेजा गया है. अंकिता ने कम उम्र में ही तमाम ऐसे काम कर दिये है जिनको देखकर पता चलता है कि लड़कियां किसी भी तरह से कमजोर नहीं होती हैं.’