फिल्म किसी भी किरदार में आसानी से ढलने की हुनर बॉलीवुड अभिनेत्री विद्या बालन में हैं. और इसी वजह से, विद्या अक्सर बायोपिक फिल्मों के लिए फिल्ममेकर्स की पहली पसंद होती हैं.

सिल्क स्मिता पर बनी ब्लौकबस्टर फिल्म ‘डर्टी पिक्चर’ में अपनी हुस्न का जादू बिखरने के बाद, विद्या ने मराठी फिल्म ‘एक अलबेला’ में बॉलीवुड अदाकारा गीता बाली का किरदार निभाया था. दो अभिनेत्रियों पर बनी बायोपिक में उनके किरदार निभाने के बाद, अब विद्या बालन तिसरी अभिनेत्री के चरित्र पर बन रही फिल्म में काम करने के लिए तैयार हैं.

१९५० में संसारम् फिल्म से अपनी कॅरियर की शुरूआत करनेवाली, और तेलगु, तमिल, कन्नड, मल्यालम और हिंदी फिल्म जगत में अपने बेहतरीन अभिनय से नाम कमानेवाली अभिनेत्री सावित्री पर बायोपिक बन रहीं हैं.

कहा जा रहा हैं कि इस बायोपिक में अदाकारा सावित्री के किरदार के लिए विद्या बालन फिल्म मेकर्स की शुरू से ही पहली पसंद थी. इसकी वजह विद्या का चेहरा सावित्रीजी के साथ मिलना है, और साथ ही, विद्या को भी सावित्री जी के तरह ही साऊथ की सारी भाषाओं पर महारथ हासिल है.

सूत्रों के अनुसार, “किरदार निभाते वक्त कोई भी संकोच ना रखते हुए, विद्या अक्सर अपने किरदार में घुस जाती हैं. चाहे फिर वो वजन में बदलाव करना हो, या बॉडी लैंग्वेज और बोली में, उस किरदार को हुबहू निभाने के लिए वो हर तरह से खूद में तबदिली लाने के लिए तैयार रहती हैं. और इसिलिए तो हमेशा विद्या बालन फिल्म मेकर्स की पसंदीदा अभिनेत्री हैं.”