सरिता विशेष

2014 में जब अनुष्का शर्मा, करण जौहर के चैट शो में नजर आयी थीं, तब पहली बार अनुष्का शर्मा द्वारा होठों की सर्जरी कराने का विवाद पैदा हुआ था. यह विवाद आज दो साल बाद भी उनका पीछा नहीं छोड़ रहा है. उस वक्त भी अनुष्का शर्मा ने सफाई देते हुए कहा था-‘‘मैं इंसान हूं. एक इंसान में सब कुछ सही हो, यह जरुरी नहीं. मैने अपने होठों की सर्जरी नहीं करायी.’’

इस विवाद के उठने के बाद नंवबर 2014 में इसी मुद्दे पर हमसे बात करते हुए अनुष्का शर्मा ने कहा था-‘‘वह बहुत गलत खबर थी. लोगों ने खबर छापी थी कि मैंने अपने होठों की सर्जरी यानी कि ऑपरेशन करवाया है. सर्जरी बहुत बड़ी बात होती है. जबकि ऐसा कुछ नहीं किया था. मैंने एक टेम्पररेरी प्रोसेस का कुछ समय के लिए उपयोग किया था. यदि मैं उस वक्त अपनी इस बात को लेकर सफाई न देती, तो लोग कुछ भी बोलते रहते. बात का बतंगड़ ना बने, इसलिए मैंने स्पष्ट किया था कि मैंने कोई ऑपरेशन नहीं करवाया है. वास्तव में फिल्म ‘बॉम्बे वेलवेट’ के किरदार के लिए वह करना मेरे लिए जरूरी था. मैंने साफ साफ बताया कि मैंने अपने होठों को टैम्परेरी प्रोसेस से अलग अंदाज दिया है. जबकि दूसरे कलाकार इस बात को छिपा जाते हैं. फिल्म देखने के बाद हो सकता है कि लोग मेरी बात को समझ पाए या ना समझ पाएं. मैंने अपनी जिम्मेदारी पर टेम्पररेरी प्रोसेस का उपयोग किया. इसमें लैस लगाते हैं.’’

लेकिन यह मुद्दा आज भी उनका पीछा कर रहा है. अब हाल ही में इसी मुद्दे पर अनुष्का शर्मा ने कहा है-‘‘मेरे पास छिपाने के लिए कुछ भी नहीं है. मैने फिल्म ‘‘बॉंबे वेल्वेट’’ के किरदार के लिए जो जरुरी था, वह किया था. उसे मैं कई बार स्पष्ट कर चुकी हूं. मैं कभी झूठ नहीं बोलती. मैने हमेशा अपने प्रशंसकों से कहा है कि मैं भी इंसान हूं. दूसरे इंसानो की तरह में भी परफैक्ट नहीं हो सकती.’’

पर जब कुछ दिन पहले ट्विटर पर अनुष्का शर्मा के होठों के आपरेशन का मुद्दा गरमाया, तो अब अनुष्का शर्मा ने बयान जारी कर कहा है-‘‘मैंने लंबे समय से मेकअप की जो तकनीक सीखी है, उसका उपयोग कर मैं एक टेम्पररेरी प्रोसेस का कुछ समय के लिए उपयोग किया, इसलिए लोगों को मेरे होठों में कुछ बदलाव नजर आता होगा. पर मैने आज तक अपने होठों की चीर फाड़ नहीं करायी है. मैने प्लास्टिक सर्जरी भी नहीं करायी है.’’