सरिता विशेष

पिछले वर्ष जब दीपिका पादुकोण ने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया था कि वह कुछ समय के लिए डिप्रेशन में चली गयी थीं और किस तरह अपने परिवार व डाक्टरों की मदद से वह डिप्रेशन से उबर पायी. तब लोगों को बहुत आश्चर्य हुआ था.

मगर दीपिका पादुकोण का मानना रहा है कि कोई भी इंसान कई वजहों से डिप्रेशन का शिकार हो सकता है. इसी के साथ डिप्रेशन के शिकार मरीजों की मदद के लिए दीपिका पादुकोण ने एक एनजीओ किस्म का फाउंडेशन ‘‘द लाइव लव लॉफ फांउडेशन’’ की शुरूआत की थी. लगभग एक साल बाद दीपिका पादुकोण का यह फांउडेशन सक्रिय हो गया है.

अब दीपिका पादुकोण का ‘‘द लाइव लव लॉफ फाउंडेशन’’ आम चिकित्सकों में मानसिक चिकित्सा के प्रति भारत भर में जागरूकता लाने के मकसद से एक कार्यक्रम ‘‘मोर देन जस्ट सैड’’ लेकर आया है. यह कार्यक्रम उन चिकित्सकों की मदद करेगा, जो कि डिप्रेशन या मानसिक बीमारी से ग्रस्त मरीजों का ईलाज कर रहे हैं.

इस कार्यक्रम की चर्चा करते हुए दीपिका पादुकोण कहती हैं-‘‘हम यह मानकर चल रहे हैं कि हम यह जो कार्यक्रम लेकर आए हैं, वह कार्यक्रम मरीजों का ईलाज करने की दिशा में पहली मदद करेगा कि डाक्टर, मरीज की बीमारी को सही ढंग से समझ पाएगा. हमारा यह कार्यक्रम डाक्टरों को मरीज की बीमारी को समझने व उनका सही ईलाज करने में मददगार साबित होगा. डिप्रेशन, तनाव और चिंता सहित मानसिक बीमारी से जूझ रहे मरीजों को हमारा यह कार्यक्रम इस तरह की बीमारी का सामना करने के लिए प्रेरणा देगा.’’