अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों में जबरदस्त शोहरत बटोर रही नागेश कुकनूर की बाल फिल्म ‘‘धनक’’ पर अब पुरस्कृत बाल उपन्यासकार अनुष्का रवि शंकर ने एक उपन्यास लिखा है. इसे पहला भारतीय फिल्म का उपन्यासीकरण माना जा रहा है. इस उपन्यास को भारतीय प्रकाशक ‘डकबिल बुक्स’ ने प्रकाशित किया है. सूत्रों की माने तो यह उपन्यास दस जून को बाजार में आएगा, जबकि फिल्म ‘‘धनक’’ सत्रह जून को रिलीज होगी. इस खबर की पुष्टि करते हुए नागेश कुकनूर कहते हैं-‘‘यह सुखद बात है कि अब भारत में बाल फिल्मों को महत्व दिया जा रहा है. बाल फिल्म ‘धनक’ अपने आप में एक नया अध्याय है.’’

फिल्म ‘‘धनक’’ की कहानी एक दस वर्षीय राजस्थानी लड़की परी की तपती गर्मी में पूरे राजस्थान की यात्रा करने की कहानी है, जो कि अपने आठ वर्ष के अंधे छोटे भाई से वादा करती है कि वह अपने अगले जन्मदिन से पहले देखने लगेगा. अपने इस मकसद में कामयाब होने के लिए परी अपनी मुहीम से अपने हीरो अभिनेता शाहरूख खान को जोड़ना चाहती है. पर उसके लिए सुपर स्टार शाहरुख खान तक पहुंचना टेढ़ी खीर है. एक दिन उसे पता चलता है कि राजस्थान में ही शाहरूख खान अपनी फिल्म की शूटिंग कर रहे हैं. तब परी अपने भाई को साथ लेकर राजस्थान की चिलचिलाती तपती धूप व तपती रेत की परवाह न करते हुए पैदल ही उस जगह के लिए निकल पड़ती है, जहां शाहरूख खान शूटिंग कर रहे होते हैं. इस फिल्म में बाल कलाकारां कृष छाबरिया और हेतल गाड़ा मुख्य भूमिका में हैं.