हड़ताल, धरने और प्रदर्शन में भी मुलाजिम ऐसा तड़का लगाते हैं, जिस से सब का ध्यान उन की तरफ जाए. उघाड़े हो कर हायहाय करना इन का खास शौक है, जो एक बार फिर भोपाल में देखने में आया, मानो सरकार इन का धंसा सीना और पसलियां देख कर पिघल जाएगी. इस हायहाय से यह जरूर समझ आया कि राज्य के कई मुलाजिम बगल के बाल जरूर साफ रखते हैं. इस से तो बेहतर होता कि वे हेयर रिमूवर बनाने वाली किसी कंपनी से इश्तिहार का करार कर लेते. खासी फीस भी मिल जाती.

COMMENT