बौंबे स्टौक एक्सचेंज में अक्तूबर के आखिरी सप्ताह और नवंबर की शुरुआत में स्थिति बहुत अच्छी रही. इस की वजह विश्व बैंक की वह रिपोर्ट है जिस में सुगम कारोबार के माहौल में वैश्विक स्तर पर 30 स्तरों का सुधार हुआ है. भारत की रैंकिंग में सुधार की इस खबर के बाद बौंबे स्टौक एक्सचेंज यानी बीएसई तथा नैशनल स्टौक एक्सचेंज नए स्तर पर बंद हुए.

रिपोर्ट में भारत की रैंकिंग 130 से सुधर कर 100 पर पहुंच गई है. इस के अलावा अमेरिकी शेयर बाजार में तेजी का भी बीएसई के सूचकांक पर सकारात्मक असर रहा और इस के कारण साप्ताहिक स्तर पर सूचकांक में 529 अंक की तेजी दर्ज की गई.

नवंबर के पहले सप्ताह के दौरान बाजार में उतारचढ़ाव का दौर रहा लेकिन सप्ताह के आखिरी दिन गुवाहाटी में जीएसटी परिषद की बैठक में कई वस्तुओं के लिए जीएसटी दर में बदलाव किए जाने की घोषणा से बाजार की रौनक बढ़ गई. जीएसटी परिषद ने गुवाहाटी की बैठक में महत्त्वपूर्ण फैसला लिया. परिषद ने 178 वस्तुओं की दर 28 प्रतिशत से घटा कर 18 प्रतिशत कर दी और 28 प्रतिशत की सर्वाधिक दर वाले स्तर पर सिर्फ 50 वस्तुओं को रखा. जीएसटी परिषद का यह फैसला बाजार के लिए आगे भी बदलावभरा माना जा रहा है.