रणबीर कपूर के कजिन और ‘यशराज फिल्म्स’की फिल्म ‘कैदी बैंड’में एक अंडर ट्रायल कैदी की भूमिका निभा रहे अभिनेता आदर जैन फिल्म में जेल से आजाद होने की जद्दोजेहाद करते हुए नजर आने वाले हैं. उनके लिए आजादी के मायने बहुत अलग हैं.

खुद आदर जैन आजादी की चर्चा चलने पर कहते हैं, ‘‘पहले मेरे लिए आजादी का मतलब जो चाहे वह बोलना था. मैं यह मानकर चलता था कि हम आजाद देश के नागरिक हैं. हम भारत जैसे विशाल लोकतांत्रिक देश के नागरिक हैं. पर अब मेरी समझ में आ गया कि हम ऐसा करते समय कई छोटी छोटी चीजों को नजरंदाज करते रहे हैं. लेकिन फिल्म ‘कैदी बेंड’में अभिनय करते हुए मुझे आजादी का अर्थ बहुत गहराई के साथ समझ में आया. मुझे समझ में आया कि हमें अपनी बात खुलकर कहनी चाहिए. मगर सिर्फ देश या सरकार को कोसने से पहले हमें अपने अंदर झांककर भी देखना चाहिए कि हम अपने आजाद देश की आजादी को बरकरार रखने के लिए क्या कर रहे हैं. हमें सबसे पहले अपने देश से प्यार करना चाहिए. मैंने आजादी के महत्व को समझा है. अब मैंने आजादी की वैल्यू करनी शुरू की. सच कहूं तो हमारी युवा पीढ़ी के अंदर देश की आजादी को लेकर ज्यादा जोश है. आज की युवा पीढी इस बात को समझती है कि हमें हर बात को फिर चाहे वह अभिव्यक्ति की आजादी हो या कुछ और, उसे ग्रांटेड मानकर नहीं चलना चाहिए.’’

Tags:
COMMENT