सरिता विशेष

‘‘शिक्षक दिवस’’ के अवसर पर दो दिन पहले ही मुंबई के होटल जुहू प्लाजा में ‘‘इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स कौंसिल’’ द्वारा आयोजित खास कार्यक्रम में 80 शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों व शिक्षाविदों को ‘‘डा. एस राधाकृष्णन मेमोरियल अवार्ड 2018’’ से पुरस्कृत किया गया.

इस अवसर पर शिक्षा जगत से जुड़ी हस्तियों के अलावा बौलीवुड की हस्तियों ने भी शिरकत की. ‘‘इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स काउंसिल’’ के सन्नी शाह द्वारा आयोजित यह चौथा पुरस्कार समारोह था.
इस अवसर पर अमिताभ बच्चन के निजी मेकअप मैन व भोजपुरी फिल्म निर्माता दीपक सावंत, फिल्म यूनियन फेडरेश गंगेश्वर लाल श्रीवास्तव व बी एन तिवारी, दादा साहेब फाल्के फाउंडेशन के अशफाक खोपीकर, भोजपुरी फिल्मों की अदाकारा संगीता तिवारी, फिल्म अभिनेत्री सगारिका, वाणी वशिष्ठ, अभिनेत्री व मौडल अर्चना गौतम, कौमेडियन सुनील पौल व दीपू श्रीवास्तव, मानवाधिकारों पर पीएचडी करने वाली महिला शिक्षक एम. इरफान, अधिवक्ता साहिल शाह सहित कई हस्तियों की मौजूदगी ने समारोह में चार चांद लगाए.

teachers day

‘‘इंटरनेशनल ह्यूमन राईट्स काउंसिल’’ के संस्थापक सन्नी शाह ने इस मौके पर शिक्षक और शिक्षा की अहमियत की बात सामने रखते हुए कहा कि, ‘‘शिक्षक दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य शिक्षा और गुरू की अहमियत को सम्मानित करना है.

इस दिन उन शिक्षकों के कार्यों को याद किया जाता है, जो शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं. गुरू अंधेरे से रोशनी की तरफ ले जाते हैं. इसीलिए ‘इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स काउंसिल’ ने ‘शिक्षक दिवस’ को ध्यान में रखते हुए मुंबई और देशभर के लगभग 80 शिक्षकों, शिक्षाविदों और प्रधानाध्यापकों को सम्मानित करने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया है.’’

teachers day

इस कार्यक्रम का संचालन सौंदर्या गर्ग ने किया. अंत में ‘इंटरनेशनल ह्यूमन राईट्स काउसिंल’ के महासचिव रामा मेहरा ने सबका आभार व्यक्त किया.