केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘‘पद्मावत’’ को सिनेमाघरों में प्रदर्शन की इजाजत दे दी है. सूत्र दावा कर रहे हैं कि अब ‘वायकाम 18’ इस फिल्म को 25 जनवरी को अक्षय कुमार की फिल्म ‘‘पैडमैन’’ के साथ प्रदर्शित करेगी. इसके बाद ही 25 जनवरी को प्रदर्शित होने वाली फिल्म ‘‘अय्यारी’’ के निर्माता निर्देशक नीरज पांडे ने अपनी फिल्म को नौ फरवरी को प्रदर्शित करने का ऐलान किया. मगर फिल्म की निर्माण से जुड़ी कंपनी ‘वायकाम 18’ और संजय लीला भंसाली की तरफ से अभी तक फिल्म ‘‘पद्मावत’’ के प्रदर्शन की आधिकारिक तारीख घोषित नहीं की गयी है.

उधर फिल्म‘‘पद्मावत’’का ‘करणी सेना’की तरफ से लगातार विरोध जारी है. इसी विरोध के बीच राजस्थान सरकार ने ऐलान कर दिया है कि वह फिल्म‘‘पद्मावत’’को राजस्थान में प्रदर्शित नहीं होने देगी. मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र के सिंगल थिएटर और मल्टीप्लैक्स मालिकों ने कहा है कि वह ‘पद्मावत’ को तभी दिखाएंगे, जब पुलिस उनकी सुरक्षा का लिखित आश्वासन दे. पर ऐसा नहीं होने जा रहा है.

bollywood

मुबई पुलिस ने तो महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को खत लिखकर दे दिया है कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की तैयारी के चलते वह फिल्म ‘पद्मावत’ के लिए सिनेमाघरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी नहीं ले सकती,  इसलिए ‘पद्मावत’ को 25 जनवरी को प्रदर्शित करने की इजाजत न दी जाए. गोवा राज्य की पुलिस ने भी गणतंत्र दिवस के साथ ही विदेशी सैलानियों का मौसम व उनकी सुरक्षा का हवाला देते हुए गोवा के मुख्यमंत्री से फिल्म ‘पद्मावत’ के प्रदर्शन पर बैन लगाने की मांग की है.

उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, गुजरात, हरियाणा व हिमाचल प्रदेश की सरकारें भी ‘पद्मावत’ के प्रदर्शन को लेकर उत्सुक नजर नही आ रही है. जिन राज्यों ने नवंबर माह में इस फिल्म पर बैन लगाने का ऐलान किया था, उन राज्य सरकारों ने अभी तक फिल्म पर से बैन हटाए जाने की कोई घोषणा नहीं की है.

यानी कि हालात ऐसे हैं कि 25 जनवरी को फिल्म‘‘पद्मावत’’के प्रदर्शित होने के आसार नजर नहीं आ रहे है.शायद यही वजह है कि ‘वायकाम 18’ और संजय लीला भंसाली ने अभी तक फिल्म के प्रदर्शन की तारीख को लेकर खुद कुछ नहीं कहा है.